Tuesday, December 25, 2012

ज़िन्दगी की एक नई शुरुआत......

ज़िन्दगी की नई शुरुआत कुछ इस तरह से हुई,

सपनो के नए सिरे इस तरह खुले जैसे एक नया आस्मां मिल गया हो मुझे,
उमगो के पंख इस तरह खुले की जैसे चाहत का नया मौसम मिल गया हो मुझे,
हकीकत से न सही फिर भी गिर कर जिन मैंने जीना सीख लिया,
मानो,

ज़िन्दगी की नई शुरुआत कुछ इस तरह से हुई,

नया सवेरा एक नयी मुस्कान के साथ मेरा ऐसे हुआ जैसे कोई अपना मिल गया हो मुझे,
बचपन का हर एक पल लम्हों मैं इस तरह केद हुआ जैसे जीना फिर से आ गया हो मुझे,
खुशियों से न सही पर फिर भी एक मुस्कुराहट के साथ मैंने जीना सीख लिया,
मानो,

ज़िन्दगी की नई शुरुआत कुछ इस तरह से हुई,